मास्टर मूवमेंट 2018 : भारत की सभी बड़ी समस्याओं का स्थाई समाधान

(घोषणा)

          ब्यक्तिगत स्वार्थ से रहित मास्टर मूवमेंट 2018 सिर्फ देश और आम जनता की सेवा करने के लिए शुरू की गई है | यह ना कोई राजनीतिक पार्टी बनेगी और ना किसी राजनीतिक पार्टी में विलय करेगी | इसमें सुझाए गए पांच सूत्री समाधान हमारे समाज के सामने एक प्रस्ताव है जिसे समाज के इच्छानुसार परिवर्तित किया जा सकता है |

Master Movement 2018: Permanent Solution to All Major Problems of India

Declaration

          Master Movement 2018 is a selfless movement and has been started to serve the country and common man. It will not form any political party nor it will join any other political party. Five points solution, mentioned here, is a proposal to our society which can be changed as per desire of the society.

मास्टर मूवमेंट 2018 की आवश्यकता

          हम सब जानते हैं कि भ्रष्ट और स्वार्थी राजनीति हमारी सभी बड़ी समस्याओं की जड़ है | आजादी का सबसे ज्यादा फायदा हमारे भ्रष्ट और स्वार्थी राजनेताओं और उनके लोगों ने उठाया जो खुद तो लगातार धनी होते गए किन्तु आम जनता को गरीबी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, अपराध, बाढ़, सूखाड़ और कश्मीर जैसी बड़ी समस्याओं से भी मुक्ति नहीं दिलाई l
          गरीबी और बेरोजगारी के मारे एमए, एमएससी, पीएचडी, बीटेक और एमटेक किये हुए छात्र चपरासी, सिपाही और सफाई कर्मचारी तक में भर्ती के लिए आवेदन दे रहे हैं किन्तु उन्हें वह भी नसीब नहीं l ऊपर से दुर्भाग्य ये कि चपरासी, सिपाही और सफाई कर्मचारी तक बनने के लिए न्यूनतम योग्यता और अच्छा चरित्र जरुरी है किन्तु 135 करोड़ लोगों का किश्मत लिखने वाले राजनेताओं के लिए ना कोई योग्यता जरुरी है ना चरित्र l
          अपने फायदे के लिए भ्रष्ट और स्वार्थी राजनेताओं ने लोगों को जाति, भाषा और क्षेत्रों में बांटा और देश को अंग्रेजों से भी ज्यादा लुटा l अंग्रेजों के बनाए हुए रोड, बिल्डिंग्स और पुल 100 सालों से ज्यादा चले जबकि इनके बनाए हुए 1-5 साल में हीं चूने और टूटने लगते हैं l हमारे लाखों देशभक्त लोगों ने अपनी कुर्बानी इसलिए नहीं दी कि आम लोग दुःख और तकलीफ सहते रहें और भ्रष्ट तथा स्वार्थी नेता मौज करते हुए देश को बर्बाद करते रहें l
          इजराईल हमसे 160 गुणा छोटा है, बाद में स्वतंत्र हुआ फिर भी उसे कोई आँख नहीं दिखा सकता जबकि हमें 70 सालों से पाकिस्तान जैसा तुच्चा भी पानी पिलाए हुए है l 1945 में पूरी तरह बर्बाद होने के बाद जापान सिर्फ 25 बर्षों में विश्व का दूसरा आर्थिक महाशक्ति बन गया l पिछले 70 सालों में चीन की इकोनोमी हमसे 7 गुनी बड़ी हो गई l जबकि हमारे स्वार्थी नेता कश्मीर जैसे स्वर्ग को भी नरक बना दिए जिसका 70 सालों से पूरा देश भारी कीमत चुका रहा है l
          हमारे राजनेताओं को बिना किसी जवाबदेही के अपार शक्ति और सुविधाएं मिली हुई है l उनकी कुर्सियों से इतने फायदे जुड़े हैं कि स्वार्थी और भ्रष्ट लोग सिर्फ उन्ही फायदों के लिए राजनीति में आते हैं l यदि नेताओं की कुर्सियों से जुड़े फायदे हटा कर जिम्मेवारी जोड़ दी जाए तो भ्रष्ट और स्वार्थी लोगों का राजनीति में आना बन्द हो जाएगा और तब देशभक्त, निःस्वार्थ और सेवाभावी लोग हीं राजनीति में आयेंगे जो देश और समाज का कल्याण करेंगे l
          देश के करोड़ों लोग और टीवी चैनल्स समस्याओं की जड़ का इलाज सोचने/ करने के बजाय दिन रात सिर्फ समस्याओं की चर्चा में व्यस्त हैं जिनसे कोई हल नहीं निकलेगा l हमारे देश के कुछ सम्मानित लोगों ने ठीक कहा है कि जब भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, राजगुरु और खुदी राम बोस जैसे अनेकों वीरों ने देश सेवा में अपनी जान कुर्बान कर दी तो उसी देश सेवा के लिए अभी के नेताओं को वेतन, भत्ते, पेंशन और इतनी सुविधाएं क्यों चाहिए? उनके अनुसार राजनेताओं में गुणात्मक सुधार और गलत करने पर सख्त सजा जरुरी है l इन्हीं गंभीर समस्याओं के समाधान के लिए यह मास्टर मूवमेंट 2018 शुरू किया गया l

Necessity of Master Movement 2018

          We all know that corrupt and selfish politics is the root cause of all major problems of India. Corrupt & selfish leaders and their men exploited the freedom for their own benefits at the cost of common man who didn’t get relief even from major problems like poverty, unemployment, corruption, crime, flood, drought and Kashmir Issue.
          Faced with extreme poverty and unemployment, highly educated students with degrees like MA, MSc, PhD, B Tech and M Tech are applying even for jobs like Sepoy, Housekeeper and Peon but most of them are disappointed even in getting these jobs. Good character and minimum education are mandatory even for jobs like Sepoy, Housekeeper and Peon but unfortunately, these are not required for leaders who decide the fate of 135 crore people of India.
          They exploited people on bases of region, cast & languages and looted India even more than Britishers. Roads, buildings and bridges built by Britishers lasted for more than 100 yrs whereas those built by our leaders start leaking and breaking in 1-5 years only. Lakhs of our patriots did not sacrifice their lives for enabling our corrupt and selfish leaders to enjoy numerous benefits and weaken the nation at the cost of common man.
          Israel is 160 times smaller than India, got freedom after us but still No country can dare to harm it, whereas we are being constantly harmed by even a failed state like Pakistan for last 70 yrs. After total devastation in 1945, Japan became second biggest economy of the world only in 25 years. In last 70 years economy of China became 7 times bigger than our Economy. Our selfish leaders turned Kashmir, a heaven on earth into hell for which we have been paying heavily for last 70 years.
          Our leaders have tremendous power and numerous benefits without any accountability. Corrupt and selfish people join politics just to get the benefits. If accountability is attached and benefits are removed from the chairs of leaders, corrupt and selfish people will stop joining politics paving the way for selfless and honest patriots who will solve all our problems of India and will make it a world leader again.
          Crores of people and TV Channels keep on discussing only problems which will never bring any solution. Many respectable people of our country rightly told that when patriots like Bhagat Singh, Chdrashekhar Azad, Rajguru, Khudi Ram Bose and numerous others sacrificed their lives for serving the country, why modern leaders want salary, allowances and numerous benefits for the same service to nation. They suggested qualitative improvement in leaders and harsh punishment for their wrong deeds. Master Movement 2018 was started to address these grave issues.